लम्पी स्किन डिजीज रोकथाम एवं बचाव के लिए प्रकोष्ठ गठित |

लम्पी स्किन डिजीज रोकथाम एवं बचाव के लिए प्रकोष्ठ गठित |
Spread the love

लम्पी स्किन डिजीज
रोकथाम एवं बचाव के लिए प्रकोष्ठ गठित

अजमेर, 9 अगस्त।जिले में लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम तथा पशुओं को बीमारी से बचाने के लिए प्रकोष्ठ गठित किए गए है।
जिला कलक्टर श्री अंश दीप ने बताया कि जिले में पशुओं को लम्पी स्किन डिजीज से बचाने के लिए प्रत्येक स्तर पर प्रयास किए जा रहे है। इस कार्य को गति देने के लिए विभिन्न प्रकोष्ठ गठित कर प्रकोष्ठ प्रभारी नियुक्त किए गए है। जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष के प्रभारी अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट शहर तथा सहायक प्रभारी क्षेत्रीय पशु रोग निदान केन्द्र के उपनिदेशक होंगे। इसी प्रकार 16 नोडल पशु चिकित्सालय स्तर पर भी नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए है। नोडल चिकित्सालयों के द्वारा नोडल क्षेत्र की गौशालाओं की दैनिक समीक्षा एवं उपचार सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही गांवों में भी बीमारी के नियंत्रण की कार्यवाही की जाएगी।
उन्होंने बताया कि आवश्यक दवा एवं वैक्सीन उपलब्ध कराने के प्रकोष्ठ के प्रभारी पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक होंगे। दवाईयों एवं वैक्सीन की जांच का कार्य सहायक कलक्टर मुख्यालय की अगुवाई में गठित प्रकोष्ठ द्वारा किया जाएगा। इसमें पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक एवं जिला औषधी नियंत्रक भी सहयोग प्रदान करेंगे। जिला स्तरीय मृत पशु निस्तारण प्रकोष्ठ के प्रभारी जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी को बनाया गया है। ब्लॉक स्तरीय मृत पशु निस्तारण प्रकोष्ठ के प्रभारी नसीराबाद तथा रूपनगढ़ के लिए सम्बन्धित उपखण्ड अधिकारी तथा अन्य क्षेत्रों के लिए सम्बन्धित विकास अधिकारी होंगे।
उन्होंने बताया कि गौशाला जांच प्रकोष्ठ के जिला स्तरीय प्रभारी पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक तथा ब्लॉक स्तरीय प्रभारी सम्बन्धित विकास अधिकारी को बनाया गया है। प्रचार-प्रसार प्रकोष्ठ के प्रभारी अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय है। बेसहारा पशु उपचार एवं आईसोलेशन के जिला स्तरीय प्रकोष्ठ के प्रभारी अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय एवं अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद को नियुक्त किया गया है। इसी प्रकोष्ठ की ब्लॉक स्तरीय जिम्मेदारी सम्बन्धित पंचायत समिति के विकास अधिकारी संभालेंगे।
भिनाय पंचायत समिति में सब से कन्ट्रोल रूम खोला गया जिला स्तर से निर्देश मिलते ही विकास अधिकारी सीमा गौड ने तुरंत पशुपालन विभाग के अधिकारी व चिकित्सकों की बैठक बुलाई तथा पंचायत समिति के सरपंचों वह विकास अधिकारीयों से समिक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए साथ ही पंचायत समिति स्तर पर कन्ट्रोल रूम शूरू कर दिया गया

विजय कुमार पाराशर
आवाज राजस्थान की
9414302519

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *