पोषण मेले का शुभारम्भ – बच्चे को अच्छा पोषण जरूरी – अतिरिक्त जिला कलक्टर

Spread the love

पोषण मेले का शुभारम्भ

– बच्चे को अच्छा पोषण जरूरी – अतिरिक्त जिला कलक्टर
k
अजमेर, 09 सितम्बर। अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनंदी लाल वैष्णव ने कहा कि राष्ट्र निर्माण में स्वस्थ समाज की अहम भागीदारी होती है। इसके लिए मां -बच्चे को अच्छा पोषण मिले यह जरूरी है।

अतिरिक्त जिला कलक्टर सोमवार को सूचना केन्द्र में आयोजित पोषण मेला एवं मीडिया कार्यशाला के शुभारम्भ अवसर पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक बच्चे का मस्तिष्क का विकास 5 वर्ष की उम्र तक भरपुर होता है। ऎसे में उसे सही पोषण और अच्छे संस्कार मिले तो वह जीवन भर का सुख होता है। वह बच्चा परिवार, देश एवं समाज का नाम रोशन करेगा। उसी से अच्छे राष्ट्र का निर्माण भी होता है।

समारोह में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव डॉ. शक्ति सिंह शेखावत कहा कि पेाषण माह के दौरान मां एवं बच्चे को दिए जाने वाले पोषण की जानकारी का कार्यक्रम मातृ एक माह के लिए ही सीमित नहीं कर इस कार्य को वर्ष पर्यन्त बनाए रखना है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी इस कार्य को सरकारी कार्य नहीं समझे वरन इसे मानव जीवन के प्रति अपना कर्तव्य मानकर पूरा करें। वे स्वच्छता का भी पूरा ध्यान रखे नवजात शिशु स्वच्छ एवं स्वस्थ रहेगा तभी वह देश की सेवा कर सकेगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 38 प्रतिशत कुपोषण के आंकड़े को वर्ष 2022 तक 25 प्रतिशत से कम पर लाने का लक्ष्य रखा है। इसे सभी ईमानदारी, निष्ठा एवं लगन से करें। उन्होंने कहा कि देश में कुपोषित एवं अति कुपोषित बच्चों की संख्या आज भी एक मुख्य चुनोती बनी हुई है जो कि उनके मानवाधिकारों को बाधित करती है अतः समाज में न्याय संगत स्थिति को बनाए रखने के लिए बच्चो एवं महिलाओ के पोषण स्तर में सुधार करने की आवश्यकता है, जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा सहयोगिनी और विभाग के अन्य र्कामिकों को सेवा भाव के साथ कार्य कर अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान देने की महती आवश्यकता है ।

शुभारम्भ अवसर पर अजमेर की उपखण्ड अधिकारी श्रीमती अर्तिका शुक्ला ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगिनी को अपने कार्य में पूर्ण दक्ष होना चाहिए चाहे वे पोषण का कार्य हो या कोई अन्य कार्य। उनकी दक्षता से ही ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को अच्छी समझाईश की जा सकेगी तथा उन्हें अच्छा पोषण व अन्य योजनाओं का लाभ भी मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि जीवन में बदलाव लाकर ही कुपोषण से मुक्ति ली जा सकती है।

कार्यक्रम में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रजनन एवं शिशु स्वस्थ्य अधिकारी डा. रामलाल शर्मा ने बताया कि इस माह में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा आंगनवाड़ी केंद्र ब्लॉक स्तर एवं जिला स्तर पर महिला बाल विकास विभाग के साथ कन्र्वजंस में विभिन्न र्कायक्रमों का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में उपनिदेशक कृषि श्री वी के शर्मा ने कृषि विभाग के द्वारा इस संदर्भ में दिए जा रहे योगदान पर प्रकाश डाला एवं स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों पर किचन गार्डन विकसित किए जाने पर जोर दिया।

प्रारम्भ में महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक डॉ. अनुपमा टेलर ने सभी का स्वागत किया तथा बताया कि भारत सरकार द्वारा नाटापन, दुबलापन एवं कुपोषण की दर में कमी लाने हेतु एवं गर्भवती एवं धात्री महिलाएं तथा 0-6 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार करने के लिए आज से पोषण माह का शुभारम्भ किया जा रहा है। पोषण माह के दौरान विभिन्न विभागों द्वारा राज्य, जिला, ब्लॉक एवं ग्राम स्तर पर पोषण के प्रति आमजन एवं समूदाय की भागीदारी सुनिश्चित करने एवं पोषण के प्रति जागरूकता पैदा करने हेतु विभिन्न गतिविधियों का आयोजन ‘‘हर घर पोषण त्यौहार एवं चलो अपनाए पोषण व्यवहार’’ की थीम पर किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पोषण अभियान के मामले में प्रदेश प्रथम स्थान पर रहा है। वहीं प्रदेश में अजमेर जिला द्वितीय स्थान पर है जिसे सभी प्रयास कर किए गए कार्यों को जन आंदोलन डैशबोर्ड पर अंकित करें ताकि जिला प्रथम स्थान पर रहे। टीकाकरण के कार्य में भी अजमेर प्रथम स्थान पर चल रहा है।

समारोह में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शकुन्तला जैन, मीनाक्षी वैष्णव, पिंकी, सुनिता वैष्णव, प्रेमपाली को अतिथियों ने प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित भी किया। समारोह में अतिथियों को स्मृति चिन्ह के रूप में औषधीय पौधे वितरित किए गए। इस अवसर पर उपस्थित समस्त पत्रकारों का भी सम्मान किया गया। इस मौके पर अतिथियों ने पोषण मेले से संबंधित स्टालों का अवलोकन भी किया।

समारोह में आईएएस प्रशिक्षु श्रीमती नित्या के, उप निदेशक जनसम्पर्क श्री महेश चन्द्र शर्मा, आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केन्द्र हटूण्डी की प्राचार्या श्रीमती मोहनी भटनागर, महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक श्री जितेन्द्र कुमार शर्मा, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री धर्मवीर सिंह मीना, सरस्वती बुन्देल, अनुराधा सेठ, नितेश यादव सहित महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी, सहायिकाओं ने भाग लिया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *