सेल्फी विद मास्क को मिला व्यापक जनसमर्थन जिले के हजारों लोगों ने मास्क के साथ सेल्फी खींच लगाई सोशल मीडिया पर जिला कलक्टर सहित सभी अधिकारियों ने मास्क के साथ ली सेल्फी दिया कोरोना से जागरूकता का संदेश |

सेल्फी विद मास्क को मिला व्यापक जनसमर्थन  जिले के हजारों लोगों ने मास्क के साथ सेल्फी खींच लगाई सोशल मीडिया पर  जिला कलक्टर सहित सभी अधिकारियों ने मास्क के साथ ली सेल्फी  दिया कोरोना से जागरूकता का संदेश |
Spread the love

     अजमेर, 29 जून। आमजन को कोरोना महामारी संक्रमण से बचने के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा चलाए जा रहे सेल्फी विद मास्क अभियान को अजमेर में व्यापक जन समर्थन मिला है। जिले में बड़ी संख्या में लोगों ने मास्क के साथ सेल्फी खींचकर अपने सोशल मीडिया अकांउट पर शेयर किए हैं। जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने भी मास्क के साथ सेल्फी खींचकर अभियान को समर्थन दिया। उन्होंने जिले के लोगों से मास्क का महत्व समझने और दूसरों को भी प्रेरित करने की अपील की है।

     आमजन को मास्क के महत्व से अवगत कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे विशेष जागरूकता अभियान के तहत आज पूरे जिले में सेल्फी विद मास्क अभियान चलाया गया। इसके तहत हजारों लोगों ने मास्क के साथ सेल्फी खींच कर अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउन्ट पर पोस्ट की है। इन सेल्फी के साथ उन्होंने कोरोना जागरूकता से जुड़े आकर्षक संदेश भी भेजे हैं। कई लोगों ने स्वयं तो कई लोगों ने परिवार के साथ सेल्फी पोस्ट की।

     जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा, अजमेर विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक श्री वी.एस. भाटी, पुलिस अधीक्षक श्री कुंवर राष्ट्रदीप, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम श्री कैलाश चंद्र शर्मा, जिला परिषद के सीईओ गजेन्द्र सिंह राठौड सहित जिले के सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने मास्क के साथ सेल्फी खींच कर सोशल मीडिया अकाउंट और विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुपों में प्रेषित की।

     जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा ने जिले के लोगों से अपील की है कि कोरोना महामारी से बचने के लिए मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग रखना, बार-बार हाथ धोना, खुले में नहीं थूकना जैसे सामान्य उपाय अपनाकर स्वयं बीमारी से बचे और दूसरों को भी प्रेरित करें। राज्य सरकार लगातार अभियान चलाकर सभी से आग्रह कर रही है। हम सब भी सरकार के इन प्रयासों में भागीदार बने।

     पुलिस अधीक्षक श्री कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि अजमेर जिले में लोगों ने अब तक सरकारी प्रयासों में पूरा सहयोग दिया है। कोरोना से बचना है तो हम सभी को साथ मिलकर संघर्ष करना होगा। कोरोना से बचने के लिए दूरी सर्वोत्तम उपाय है। हम सभी इस पर पूरा अमल करें।

     अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री वी.एस. भाटी ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सभी का सजग होना बेहद जरूरी है। अजमेर डिस्कॉम लगातार कोरोना से बचाव के लिए आमजन और कर्मचारियों को प्रेरित कर रहा है। डिस्कॉम अपने 55 लाख उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाएगा।

     इसी तरह जिला परिषद के सीईओ श्री गजेन्द्र सिंह राठौड, एडीएम प्रथम श्री कैलाश चन्द्र शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों तथा जिला स्तरीय अधिकारियों ने जिले के लोगों से मुहिम में जुड़ने की अपील की। जिले में बड़ी संख्या में लोगों ने हैशटैग अजमेर इज अलर्ट के साथ अपने-अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सेल्फी शेयर की है।

कोरोना से जागरूकता की शपथ कल

     कोरोना जागरूकता के लिए राज्य सरकार के विशेष अभियान के तहत कल 30 जून को जिले के सभी सरकारी कार्यालयों में कोरोना से जागरूकता की शपथ ली जाएगी। जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने-अपने कार्यालयों में कोरोना से जागरूकता की शपथ लेने के निर्देश दिए है। उन्होंने विभिन्न गैर सरकारी संगठनों और आमजन से आग्रह किया है कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना से बचाव के लिए सभी को एक-दूसरे से दो गज की दूरी, बिना मास्क के बाहर नहीं निकलना, बार-बार साबुन से हाथ धोना और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकना आदि उपायों की शपथ दिलाएं। शपथ के वीडियों हैशटैग  #ajmerisalert के साथ सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड करें ताकि और लोग भी इन से प्रेरित हो, इन उपायों को जीवन में आत्मसात करें।

यह है शपथ का प्रारूप

     हम भारत के नागरिक कोविड-19 वैश्विक महामारी के संक्रमण से रोकथाम एवं बचाव हेतु यह शपथ लेते हैं कि हम भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी एडवायजरी एवं दिशा-निर्देशों की पालना करेंगे। कोरोना से घबराए बिना निर्भीक होकर सभी सावधानियां जैसे एक-दूसरे से दो गज की दूरी, बना मास्क के बाहर नहीं निकलना, बार-बार साबुन से हाथ धोना और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकना की पूर्ण पालना करेंगे। हम, कोरोना वायरस रोगी और जरूरतमंदों की सहायता के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। हम, कोविड-19 महामारी से बचने के सभी उपायों से गांव, ढाणी, वार्ड, मौहल्ले के जन-जन को प्रेरित करेंगे।

जिला कलक्टर ने ली विभागीय अधिकारियों की बैठक

जर्जर एवं क्षतिग्रस्त भवनों का करें चिन्हीकरण

पेयजल की गुणवक्ता पर दे ध्यान

     अजमेर, 29 जून। जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा की अध्यक्षता में सोमवार को विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। जिसमें जर्जर एवं क्षतिग्रस्त भवनों के चिन्हीकरण तथा पेयजल की गुणवक्ता सुधारने के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश प्रदान किए गए।

     जिला कलक्टर श्री विश्वमोहन शर्मा ने समीक्षा बैठक में कहा कि मानसून के दौरान दुर्घटना से बचने के लिए जिले के समस्त जर्जर एवं क्षतिग्रस्त भवनों का चिन्हीकरण किया जाना आवश्यक है। स्थानीय निकाय एवं प्रशासन द्वारा इन भवनों को गिराये जाने अथवा अनुपयोगी घोषित करने से सम्बन्ध में कार्यवाही की जाए। साथ ही इस तरह के भवनों की बैरिकेटिंग करके दुर्घटना को रोके जाने के प्रयास भी किए जाए।

     उन्होंने कहा कि मौसमी बीमारियों के उपचार के लिए पूर्व में तैयारी की जानी आवश्यक है। संक्रमक बीमारियों के बचाव के लिए शुद्ध पेयजल का उपयोग किया जाना चाहिए। इस सम्बन्ध में चिकित्सा विभाग एवं जलदाय विभाग के अधिकरियों को जल के नमूनों की जॉंच करवाने के निर्देश प्रदान किए। इसके साथ-साथ पेयजल के क्लोरीनीकरण पर भी विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।

     उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों का अनिवार्य क्वारेंटाइन नहीं करने के सम्बन्ध में राज्य सरकार ने दिशा-निर्देश जारी किए है। इनकी पालना सुनिश्चित की जाएगी। कोरोना के अतिरिक्त अन्य सामान्य बीमारियों के उपचार एवं जांच के लिए भी पूर्व की भांति समस्त व्यवस्थाएं अंजाम दी जानी चाहिए।

     उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग एवं जलदाय विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करेंगे। गर्मी के मौसम में प्रत्येक व्यक्ति तक पेयजल पहुंचाना सामूहिक जिम्मेदारी है। जलदाय विभाग के लिए डेडिकेटेंड विद्युत लाईनों से अन्य कनेक्शनों का हटाया जाए। साथ ही ट्रीपिंग को आगामी 15 दिन में न्यूनतम स्तर तक लाया जाए। जलदाय विभाग के अधिकारियों एवं प्रशासन द्वारा फिल्टर प्लांट का आकस्मिक निरीक्षण किया जाए। इस दौरान टरगीडिटी एवं क्लोरीनीकरण की जॉंच की जाए। जिले में हैंडपम्प मरम्मत की रिपोर्ट जलदाय विभाग द्वारा तैयार की जाएगी। साथ ही उपखण्ड अधिकारी द्वारा इनका वैरीफिकेशन भी करवाया जाएगा।

     उन्होंने कहा कि पालनहार योजना के पात्र विद्यार्थियों का सत्यापन संबंधित शैक्षिक संस्था द्वारा किया जाएगा। सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग सत्यापन के लिए नाम एवं सूची शिक्षा विभाग को उपलब्ध करायेगा। विद्यालय में खेल-मैदान का विकास महात्मा गांधी नरेगा के माध्यम से करवाया जाएगा। जिले के समस्त राजकीय विद्यालय खेल-मैदान से सम्बन्धित भूमि के दस्तावेज जिला स्तर पर उपलब्ध करवाएंगे। इस आधार पर खेल-सुविधाओं के विकास के प्रस्ताव तैयार किए जाएंगे।

     उन्होंने कहा कि टाटा पावर के द्वारा अजमेर शहर में वितरित किए गए बिजली के बिलों के सम्बन्ध में शिकायतें प्राप्त हो रही है। उपभोक्ताओं से प्राप्त शिकायतों की जॉंच के लिए अजमेर विद्युत वितरण निगम द्वारा कार्यवाही की जाएगी। नागरिकों की सुविधा के लिए जोन के अनुसार शिविर लगाये जाए। बिलों की शिकायतों तथा उनके निस्तारण का वैरिफिकेशन भी किया जाना आवश्यक है।

     उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग द्वारा जिले के समस्त पशुपालकों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करते हुए पशुओं का टीकाकरण किया जाए। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चन्द्र शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह राठौड़, अजमेर विकास प्राधिकरण के सचिव श्री किशोर कुमार उपस्थित थे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *