भगवान के आने से पुर्व ही प्रधान ने पदभार ग्रहण किया

भगवान के आने से पुर्व ही प्रधान ने पदभार ग्रहण किया
Spread the love

भगवान के आने से पुर्व ही प्रधान ने पदभार ग्रहण किया

अजमेर की नव गठीत पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण मे नव निर्वाचित प्रधान सीमा रावत ने पंचायत समिति के विकास अधिकारी भगवान अरविंद के कार्यभार ग्रहण करने से पहले ही कार्यवाहक विकास अधिकारी मधुसूदन रतनू से प्रधान पद का कार्यभार ग्रहण कर लिया
अजमेर ग्रामीण पंचायत समिति मे राज्य सरकार की ओर से विकास अधिकारी के पद पर भगवान अरविंद को लगाया गया है भगवान अरविंद सोमवार को पदभार ग्रहण करेगे
विकास अधिकारी के पदभार ग्रहण करने से पुर्व ही प्रधान द्वारा कार्यभार ग्रहण करना एक रणनीति मानी जा रही है ताकी आने वाले विकास अधिकारी को मैसेज दिया जा सके की उसे प्रधान के अधीन हो कर की कार्य करना है एसा इस लिये कहा जा रहा है की नव गठित अजमेर ग्रामीण पंचायत समिति मे सदस्य के तौर पर पुर्व शिक्षा मंञी नसीम अख्तर ईसाफ व उन की पुञवधु भी पंचायत समिति के सदस्य के रूप मे निर्वाचित हुई है नसीम अख्तर इंसाफ काग्रेस पार्टी से है तथा प्रदेश मे अभी काग्रेस की सरकार है एसे मे नवनियुक्त विकास अधिकारी की नियुक्ति मे नसीम अख्तर की सिफारिश व सहमति मानी जा रही है
वही दूसरी ओर जिले की सब से बड़ी पंचायत समिति मे प्रधान द्वारा गुपचुप रूप से कार्यभार ग्रहण करने से चर्चाओ का बाजार गर्म हो गया की जिले की 11 पंचायत समितियो मे सब से आखिर मे अजमेर ग्रामीण की प्रधान ने कार्यभार ग्रहण किया वह भी गुपचुप कार्यभार ग्रहण करने के दोरान पंचायत समिति के अधिकांश सरपंच व सदस्य नदारत दिखे वही भाजपा नेताओ का जमावड़ा पदभार ग्रहण करने के दोरान देखा गया है
अजमेर ग्रामीण पंचायत समिति का हाल ही मे गठन हुआ है एसे मे पंचायत समिति के पास न तो स्थाई कार्यलय है ओर न ही स्थाई स्टाफ कार्यलय के विधिवत संचालन के लिये अभी संसाधन भी विकसित करने होगे उस मे सब का साथ सब के विकास की भूमिका को अपनाना होगा परन्तु नवनिर्वाचित प्रधान द्वारा ऐकला चालो की नीति पर कार्य करना उन्हे दो साल बाद किसी परेशानी मे न ङाल दे आप का ध्यान इस ओर भी आकर्षित करना चाहूंगा की नविन पंचायत समिति मे असल दंगल तो अब शूरू होगा जब राज्य सरकार पंचायत समिति की कमेटियो का कार्यक्रम घोषित करेगी कमेटियों मे प्रधान की मंशा के अनुरूप सदस्य निर्वाचित नही हुये तो प्रधान पद पर कार्य करने मे सीमा रावत को लोहे के चने चबाने पङ सकते है
भले ही नव निर्वाचित प्रधान सीमा रावत दूसरी बार पंचायत समिति सदस्य का चुनाव जीत कर प्रधान बनी हो पर रावत ने श्रीनगर पंचायत समिति मे सदस्य रहते हुये कितनी समस्याओं को सदन मे उठाया सभी को पता है नव निर्वाचित प्रधान सीमा रावत को अभी बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पङेगा एसे मे प्रधान रावत को यह लङाई सब के साथ मिल कर लङनी होगी
अजमेर ग्रामीण पंचायत समिति की पहली महिला प्रधान सीमा रावत को सभी सरपंच व सदस्यों को साथ लेकर विकास करना होगा चुनाव जितने के बाद भाजपा काग्रेस नही होता यह याद रखना होता है प्रधान सभी का होता है प्रधान के कार्य मे उन के साहब अर्जुन रावत उन का मार्गदर्शन व सहयोग करेगे पर पंचायत राज मे उन्हे ही सीट पर बैठ कर निर्णय लेना होगा
विजय कुमार पाराशर
आवाज राजस्थान की
8112213839

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *