ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश सामुदायिक भवनों की हालत खराब जिला परिषद इनकी कराएगी जाँच, फिर होगी मरम्मत

Spread the love

अजमेर (ARK News)। जिला परिषद जिले में पिछले बीस सालों में निर्मित सामुदायिक भवनों की वर्तमान स्थिति को जानकारी लेने के लिए अगले माह सात दिन का विशेष अभियान चलाएगा। सीईओ डॉ. गौरव सैनी ने बताया कि जिले के पंचायतीराज जनप्रतिनिधियों और लोगों की शिकायत मिल रही है कि ग्रामीणों की सुविधायें बनाए गए सामुदायिक भवन जीर्ण-शीर्ण एवं खण्डार हो रहे हैं। करोड़ों रुपए होने के बावजूद अधिकांश सामुदायिक भवनों की सार-संभागल नहीं की जा रही है। ऐसे सामुदायिक भवनों की जानकारी एकत्र करने के लिए सभी पंचायत समितियों के जरिए ग्राम पंचायतों में अभियान चलाया जाएगा। इसके बादर इन भवनों की मरम्मत के लिए अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए सभी सामुदायिक भवनों के क्षेत्रों में संबंधित ग्राम पंचायतों को अधिकृत किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि जिले में बीस सालों में लगभग तीन हजार से भी ज्यादा सामुदायिकद केंद्र बनाए गए है और इनमें से कई की हालत खराब है।
फर्जी जॉब कार्डों की होगी जाँच
सीईओ के अनुसार महानरेगा कार्यों के अंतर्गत कई श्रमिकों के फर्जी जॉब कार्ड बने होने की शिकायतों की भी जांच होगी। आरोप है कि सरपंच सहित अन्य कार्मिक मिलीभगत करके ऐसे फर्जी जॉब कार्डों का भुगतान उठा रहे है। जाँच के दौरान जिस गाँव में फर्जी जॉब कार्ड पाए जाएंगे उसके मेट, ग्राम विकास अधिकारी को जेटीए के खिलाफ कार्रवाही की जाएगी।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *