हिन्दूस्तान में सबसे अधिक पशुपालकों को मूल्य चुकाने वाली डेयरी बनी अजमेर सरस डेयरी अजमेर को डेनमार्क बनाना मुख्य ध्येय-रामचन्द्र चौधरी

Spread the love

अजमेर(ARK News)। राजस्थान की अजमेर डेयरी ने एक ओर र्कीतिमान स्थापित किया है। अजमेर डेयरी के चैयरमेन रामचन्द्र चौधरी ने एक बार फिर पशुपालकों को सौगात दी है। राजस्थान के अजमेर जिले की सरस डेयरी संचालन मण्डल ने दूध की खरीद मूल्य 6.50 रुपये से बढ़ाकर 7.00 रुपये प्रति फेट करने का निर्णय लिया है। बढ़ी हुई राशि एक अगस्त से प्रभावी होगी इससे जिले के पशुपालकों को औसत 3.50 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी होगी वहीं संघ को प्रतिमाह 2 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भुगतान करना पड़ेगा।
नई दर के अनुसार संघ द्वारा प्रति फेट 6.70 पैसे देय होगी एवं इसके अतिरिक्त 2 रुपये प्रतिलीटर मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक सम्बल योजना के मिलाने पर 30 पैसे प्रति फेट के लगभग होगा जो कुल मिलाकर 7 रुपये प्रति फेट होगा।
डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि हिन्दूस्तान में सबसे अधिक पशुपालकों को मूल्य चुकाने वाली डेयरी अजमेर डेयरी बन गई है। कोरोना काल के दौरान पशुपालकों को जीवन यापन करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में अजमेर सरस डेयरी ने अपने पशुपालकों को सम्बल प्रदान करने के लिए आगे होकर कदम बढ़ाते हुए दुग्ध खरीद के मूल्य को बढ़ाया है। चौधरी ने बताया कि बढ़े हुए मूल्य के कारण उपभोक्ताओं पर किसी भी प्रकार कोई अतिरिक्त भार नहीं डाला जायेगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में डेयरी 45 से अधिक प्रकार के विभिन्न उत्पाद बनाकर उपभोक्ताओं तक पहुंचा रही है। शुद्ध एवं गुणवकत्ता पूर्ण उत्पाद के कारण अजमेर डेयरी की साख पूरे भारत में बनी है।
डेयरी अब जल्द ही अब पूरी तरह से डिजिटल रूप ले रही है। अब डेयरी बूथ व एजेंट ऑनलाईन डिमाण्ड कर रहे है। वहीं दुध देने वाले पशुपालकों के मोबाईल पर भी एसएमएस से दुध की फेट व अन्य जानकारियाँ मिल रही है। डेयरी द्वारा शुरू की गई आईक्रीम की माँग बढ़ी है। अजमेर डेयरी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 100 नये आईक्रीम पार्लर खोलने जा रही है। डेयरी अध्यक्ष चौधरी ने कहा कि जिले में 1 लाख पशु अन्य राज्यों से अजमेर लाये जायेंगे, जिले के विभिन्न बैंकों से समन्वय स्थापित कर समानान्तर ब्याजदर पर पशु क्रय हेतु प्रयास किये जा रहे हैं। पशुपालकों को द्वारा पशु खरीद हेतु बैंक से लोन लेने पर गारंटी अजमेर डेयरी देगी। अजमेर डेयरी पशुओं की नस्ल सुधार को लेकर भी कार्य कर रही है इसके लिए दो टीमे बनाई गई है जो राजकोट गुजरात व हरियाणा में जाकर गीर नस्ल के पाड़े व सांड की खरीद का कार्य करेगी। रामचन्द्र चौधरी ने कहा कि उनका ध्येय अजमेर को डेनमार्क बनाना है जिसकी शुरूआत हो चुकी है। आज अजमेर डेयरी का नवीन प्लांट इसकी ज्वलंत उदाहरण है।
संचालक मण्डल की बैठक में ये रहे मौजूद
संचालक मण्डल की बैठक 29 जुलाई 2021 को डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में संचालक मण्डल के सदस्य छोगालाल, दिनेश सिंह राठौड़, रामकन्या, लादू राम चौधरी, लादू राम शर्मा, रामपाल गुर्जर, राजेंद्र प्रसाद, भागचन्द, रूपचन्द्र, मोती गुर्जर, आर.सी.डी.एफ. प्रतिनिधि, संदीप आहूजा, प्रबन्धक पशु आहार संयंत्र मनोज शर्मा, सदस्य सचिव एवं संघ के प्रबंध संचालक उमेश चन्द्र व्यास मौजूद रहे।
संचालक मण्डल की बैठक पशुपालकों के हित में लिए गये निर्णय
1. पशुओं का बीमा में यूनाईटेड इण्डिया इंश्योरेंस कम्पनी में करवाया जायेगा। बीमे की प्रीमियम प्रति पशु 1800 रुपये का 50 प्रतिशत अनुदान संघ द्वारा का 1/2 समिति एवं 1/2 दुग्ध उत्पादक सदस्य वहन करेंगे।
2. पशुपालकों के हित में बछड़ों के उत्पादन को रोकने हेतु स्द्ग3 Sex Sorted Semen की Dose पशुपालकों को संघ द्वारा उपलब्ध कराई जायेगी इसकी प्रति डोज 770 रु. कीमत में से 257 रुपये संघ द्वारा अनुदान किया जायेगा एवं शेष राशि 257 रुपये का समिति एवं इतनी ही राशि पशुपालक द्वारा वहन की जायेगी। इसका स्त्रोत BAIF संस्था Pune द्वारा क्रय करने का निर्णय लिया गया।
3. राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना के अन्तर्गत नस्ल सुधार हेतु ्रक्चढ्ढक्क BIP (Accelerated Imporvement Programme) कार्यक्रम आरम्भ किया जायेगा। प्रति भू्रण प्रत्यारोपण की राशि 20,000/- रुपये होगी, जिसका 50 प्रतिशत 10,000/- रुपये संघ, 5,000 रु. एनडीडीबी द्वारा अनुदान, 2,500 रु. दुग्ध समिति एवं शेष 2,500 रु. लाभार्थी द्वारा वहन किया जायेगा।
4. जिले के पशुपालकों की मांग के अनुसार अगस्त और सितम्बर माह में प्राकृति प्रक्रिया अपनाने के लिए 100 सांड गिर नस्ल के एवं मुर्रा पाडे संघ द्वारा उपलब्ध करवाये जायेंगे। जिनमें संघ द्वारा प्रत्येक साण्ड/पाडे पर 40,000/- रुपये का अनुदान दिया जायेगा।
संध संचालक मण्डल द्वारा पशुपालकों के हित में लिये गये महत्त्वपूर्ण निर्णयों के अलावा संघ कार्मिकों के लिये निम्न निर्णय लिये गये-
1. समस्त कार्मिकों को मुख्यमंत्री चिंरजीवी बीमा योजना से जोड़ दिया गया है।
2. समस्त कार्मिकों का कोरोना वैक्सीनेशन करवा दिया गया है।
3. समस्त कार्मिकों का कोरोना अथवा अन्य कारणों से मौत होने पर 25.00 लाख रुपये तक का बीमा करवा दिया गया है।
इसी प्रकार नव निर्मित पाउडर प्लांट संचालन हेतु 1 सलाहकार श्री दिनेश पटेल को रखा गया है जो कि बनासकाठा डेयरी में पूर्व में जीएम से सेवानिवृत हो चुके है। यह महिने में 3 बार विजिट करेंगे एवं प्रत्येक विजिट में 3 दिवस यही ठहराव करेंगे।
संघ की दुग्ध समितियों के हित में भी निर्णय लिये गये है जिसमें प्रत्येक समिति के डिजिटिलाईजेशन का कार्य रील कम्पनी द्वारा करवाया जाने का निर्णय लिया गया एवं आगामी 14 नवम्बर को इसका श्री गणेश किया जायेगा। समितियों पर उपलब्ध बी.एम.सी. के रख-रखाव का ठेका IDMC को समितियों पर उपलब्ध Milko Screen के रख-रखाव का ठेका इण्डिफोस को तथा समितियों पर उपलब्ध ्ररूष्ट AMCU (Automtic Milk Collectino Unit) के रख-रखाव का ठेका रील कम्पनी को दिया गया है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *