महात्मा गाँधी नरेगा श्रमिकों की हाजरी अब ऑनलाईन दर्ज होगी

महात्मा गाँधी नरेगा श्रमिकों की हाजरी अब ऑनलाईन दर्ज होगी
Spread the love

अजमेर (ARK News)। प्रदेश ग्राम पंचायतों में चल रही महात्मा गाँधी नरेगा योजना से जुड़े श्रमिकों की हाजरी अब ऑनलाईन दर्ज होगी। मोबाईल मॉनिटरिंग सीस्टम (एमएमएस) के माध्यम से मेट श्रमिकों को हाजरी ऑनलाईन दर्ज करेेंगे। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग आयुक्त ईजीएस अभिषेक भगोतिया ने प्रदेश की सभी जिला परिषद् सीईओ को आदेश जारी करते हुए प्राथमिकता से श्रमिकों की हाजरी ऑनलाईन दर्ज करने के लिए निर्देश जारी किये हैं।
ऐसे में अब प्रदेश की 11255 ग्राम पंचायतों में फरवरी के प्रथम पखवाड़े से सभी नियोजित श्रमिकों की एमएमएस के माध्यम से उपस्थिति ली जायेगी। इस बाबत् प्रदेश की ग्राम पंचायतों में लगे हुए मेटों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। राज्य में एमएमएस के माध्यम से उपस्थिति लेने के लिए मेटों का रजिस्ट्रेशन नरेगा सॉफ्ट के पीओ लॉगिन पर किया जा रहा है। राज्य के समस्त जिला एमआईएस मैनेजर को जनवरी के प्रथम सप्ताह में वीवी की माध्यम से प्रशिक्षण दिया जा चुका है तथा दूसरे सप्ताह में जिला एवं ब्लॉक स्तर पर प्रशिक्षण की कार्यवाही की जा रही है। ऐसे में अब प्रशिक्षण के बाद फरवरी के प्रथम रखवाड़े से मैट एमएमएस एप के माध्यम से श्रमिकों को उपस्थिति लेंगे।
आयुक्त ईजीएस अभिषेक भगोतिया ने निर्देश जारी किये हैं कि मनरेगा कार्य स्थल पर श्रमिक उपस्थिति एवं फोटो एमएमएस के माध्यम से प्रात: 11:00 बजे पूर्व ली जायेगी। जिनमें श्रमिकों का नियोजन 20 या अधिक हो। एमएमएस के माध्यम से श्रमिक उपस्थिति मैट द्वारा लिये जाने के पश्चात् इसे प्रतिदिनि नरेगा सॉफ्ट पर अपलोड किया जायेगा।

admin

ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति होगी प्रशिक्षित   जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जल जीवन मिशन अंतर्गत मंत्रालय अधीन कार्यरत केआरसी स्टूडेंट्स रिलीफ सोसाइटी द्वारा चार दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन दिनांक 31 जनवरी से 3 फरवरी तक किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं केआरसी के सलाहकार आनन्द शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण में जल जीवन मिशन के परिचय के साथ ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के कार्य एवं जिम्मेदारियां, ग्राम पंचायत की भूमिका, एफएफसी एवं मनरेगा एवं अन्य योजनाओं से कंवर्जन्स, सुजल एवं स्वच्छ ग्राम की अवधारणा, ग्रे वाटर प्रबंधन, जल स्त्रोत प्रबंधन एवं वर्षा जल संचयन, निगरानी एवं आंकलन, संचालन एवं रखरखाव, प्रशासनिक, तकनीकी एवं वित्तीय प्रबंधन, सूचना शिक्षा एवं संचार तकनीकी आदि विषयों के साथ साथ क्षेत्र भ्रमण के दोरान पीआरए तकनीक द्वारा ग्राम में विभिन्न टूल्स के माध्यम से ग्राम योजना तैयार करना भी प्रायोगिक तौर पर बताया जाएगा।

ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति होगी प्रशिक्षित जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जल जीवन मिशन अंतर्गत मंत्रालय अधीन कार्यरत केआरसी स्टूडेंट्स रिलीफ सोसाइटी द्वारा चार दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन दिनांक 31 जनवरी से 3 फरवरी तक किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं केआरसी के सलाहकार आनन्द शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण में जल जीवन मिशन के परिचय के साथ ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के कार्य एवं जिम्मेदारियां, ग्राम पंचायत की भूमिका, एफएफसी एवं मनरेगा एवं अन्य योजनाओं से कंवर्जन्स, सुजल एवं स्वच्छ ग्राम की अवधारणा, ग्रे वाटर प्रबंधन, जल स्त्रोत प्रबंधन एवं वर्षा जल संचयन, निगरानी एवं आंकलन, संचालन एवं रखरखाव, प्रशासनिक, तकनीकी एवं वित्तीय प्रबंधन, सूचना शिक्षा एवं संचार तकनीकी आदि विषयों के साथ साथ क्षेत्र भ्रमण के दोरान पीआरए तकनीक द्वारा ग्राम में विभिन्न टूल्स के माध्यम से ग्राम योजना तैयार करना भी प्रायोगिक तौर पर बताया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *