ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति होगी प्रशिक्षित जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जल जीवन मिशन अंतर्गत मंत्रालय अधीन कार्यरत केआरसी स्टूडेंट्स रिलीफ सोसाइटी द्वारा चार दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन दिनांक 31 जनवरी से 3 फरवरी तक किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं केआरसी के सलाहकार आनन्द शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण में जल जीवन मिशन के परिचय के साथ ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के कार्य एवं जिम्मेदारियां, ग्राम पंचायत की भूमिका, एफएफसी एवं मनरेगा एवं अन्य योजनाओं से कंवर्जन्स, सुजल एवं स्वच्छ ग्राम की अवधारणा, ग्रे वाटर प्रबंधन, जल स्त्रोत प्रबंधन एवं वर्षा जल संचयन, निगरानी एवं आंकलन, संचालन एवं रखरखाव, प्रशासनिक, तकनीकी एवं वित्तीय प्रबंधन, सूचना शिक्षा एवं संचार तकनीकी आदि विषयों के साथ साथ क्षेत्र भ्रमण के दोरान पीआरए तकनीक द्वारा ग्राम में विभिन्न टूल्स के माध्यम से ग्राम योजना तैयार करना भी प्रायोगिक तौर पर बताया जाएगा।

ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति होगी प्रशिक्षित   जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जल जीवन मिशन अंतर्गत मंत्रालय अधीन कार्यरत केआरसी स्टूडेंट्स रिलीफ सोसाइटी द्वारा चार दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन दिनांक 31 जनवरी से 3 फरवरी तक किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं केआरसी के सलाहकार आनन्द शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण में जल जीवन मिशन के परिचय के साथ ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के कार्य एवं जिम्मेदारियां, ग्राम पंचायत की भूमिका, एफएफसी एवं मनरेगा एवं अन्य योजनाओं से कंवर्जन्स, सुजल एवं स्वच्छ ग्राम की अवधारणा, ग्रे वाटर प्रबंधन, जल स्त्रोत प्रबंधन एवं वर्षा जल संचयन, निगरानी एवं आंकलन, संचालन एवं रखरखाव, प्रशासनिक, तकनीकी एवं वित्तीय प्रबंधन, सूचना शिक्षा एवं संचार तकनीकी आदि विषयों के साथ साथ क्षेत्र भ्रमण के दोरान पीआरए तकनीक द्वारा ग्राम में विभिन्न टूल्स के माध्यम से ग्राम योजना तैयार करना भी प्रायोगिक तौर पर बताया जाएगा।
Spread the love

ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति होगी प्रशिक्षित

जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जल जीवन मिशन अंतर्गत मंत्रालय अधीन कार्यरत केआरसी स्टूडेंट्स रिलीफ सोसाइटी द्वारा चार दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन दिनांक 31 जनवरी से 3 फरवरी तक किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं केआरसी के सलाहकार आनन्द शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण में जल जीवन मिशन के परिचय के साथ ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के कार्य एवं जिम्मेदारियां, ग्राम पंचायत की भूमिका, एफएफसी एवं मनरेगा एवं अन्य योजनाओं से कंवर्जन्स, सुजल एवं स्वच्छ ग्राम की अवधारणा, ग्रे वाटर प्रबंधन, जल स्त्रोत प्रबंधन एवं वर्षा जल संचयन, निगरानी एवं आंकलन, संचालन एवं रखरखाव, प्रशासनिक, तकनीकी एवं वित्तीय प्रबंधन, सूचना शिक्षा एवं संचार तकनीकी आदि विषयों के साथ साथ क्षेत्र भ्रमण के दोरान पीआरए तकनीक द्वारा ग्राम में विभिन्न टूल्स के माध्यम से ग्राम योजना तैयार करना भी प्रायोगिक तौर पर बताया जाएगा।
इस हेतु पहले चरण में पीसांगन पंचायत समिति की तीन ग्राम पंचायतों क्रमशः दांतडा, कलेसरा एवं भटसुरी के नो गांवों की समितियो का चयन किया है जिसमे प्रत्येक समिति से पांच सदस्यों के साथ सरपंच एवं ग्राम विकास अधिकारी को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाएगा। इसके साथ ही जिले में कार्यरत आईएसए ग्रामोदय सामाजिक संस्थान के बीस कार्मिकों को भी प्रशिक्षित किया जाएगा।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *