कलेक्टर ने नवाचार कर 96 परिवारों के 155 बच्चों से किया संवाद

कलेक्टर ने नवाचार कर 96 परिवारों के 155 बच्चों से किया संवाद
Spread the love

कलेक्टर ने नवाचार कर जिले के 155 बच्चों को दिया सहारा।
नवाचार: कलक्टर सभागार में ‘बाल सहारा’ कार्यक्रम में बच्चों की जानी मन की बात

शाहपुरा 5जुलाई, देव कृष्ण राज पाराशर। जिला प्रशासन शाहपुरा व जिला परिवीक्षा एवं समाज कल्याण अधिकारी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से शाहपुरा कलेक्ट्रेट सभागार में “बाल सहारा” कार्यक्रम का आयोजन कलक्टर राजेंद्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में हुआ।
शाहपुरा, फूलियाकलां, जहाजपुर, रायला क्षेत्र से अनाथ, निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा, पुनर्विवाहित विधवा, तलाकशुदा, परित्यक्ता, नाता जाने वाली माता के बच्चें, विशेषयोग्यजन, सिलोकोसिस, कुष्ठ रोग, एच.आई.वी. या एड्स से पीड़ित, न्यायिक प्रक्रिया से, मृत्यु दण्ड या आजीवन कारावास प्राप्त माता पिता के 96 परिवारों के 155 बच्चों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।
सभागार में शेखावत ने माताजी खेड़ा की कोमल धाकड़, प्रतापपुरा की नाथी देवी बैरवा, बांकरा ग्राम पंचायत, जहाजपुर की विश्ना गुर्जर, फूलियाकलां की रिंकू रेगर, पनोतिया की राजी कुमावत के बच्चें सहित कई बच्चों से बारी बारी संवाद किया और उनकी मन की बात सुनी। कलक्टर से बात करती हुई कोमल धाकड़ ने पढ़ाई कर शिक्षक बनकर ग्रामीण बच्चों को साक्षर बनाने, एक अन्य बालक ने पढाई कर अधिकारी बनकर हमारे गांव की समस्याओं को दूर करने सहित अन्य बच्चों ने संवाद कार्यक्रम में अपने मन के भाव सबके सामने रखें।
कार्यक्रम के शुरुआत में समाज कल्याण विभाग अधिकारी राम अवतार जाट ने पालनहार योजना के बारे में बारीकी से जानकारी देते हुए बताया कि जिले में 8069 पालनहार के 10604 बच्चे लाभान्वित हो रहे है। कार्यक्रम में जिले से आये पालनहार बच्चे व उनके परिजनों को सम्बोधित करते हुए बताया कि कलक्टर शेखावत ने बाल सहारा कार्यक्रम को लेकर नवाचार कर जिले के सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से गांव गांव सर्वे करवा कर पालनहार योजना से वंचित बच्चों के ऑन लाइन फार्म भरवा कर कलक्टर के हाथों 96 परिवार के 155 बच्चों को जोड़ने की स्वीकृति जारी की। शेखावत की इस पहल को लेकर ग्रामीण अंचलों से आये परिजनों ने शेखावत का सामूहिक रूप से एकर्तित होकर आभार प्रदर्शित किया।

शिकायत पर तुरंत कार्यवाही: आगरिया की एक बेवा संजू कंवर ने समाज कल्याण अधिकारी को शिकायत करते हुए बताया 4 वर्ष पहले उसके पति की मौत के बाद कई बार विभाग में 2 बच्चों को पालनहार से जोड़ने की गुहार लगाई लेकिन नही जोड़ा गया। इस शिकायत को लेकर अधिकारी ने तुरंत ऑनलाइन आवेदन करवा बेवा के 2 मासूम बच्चों को पालनहार से जोड़कर लाभान्वित किया।
कार्यक्रम में एडीएम सुनील पुनिया, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमित शर्मा, शाहपुरा एसडीएम निरमा विश्नोई, फूलियाकलां एसडीएम रामकेश मीणा, नगर परिषद आयुक्त रामकिशोर, समाजकल्याण विभाग के रामावतार जाट, मनोज कुमार, बीसीएमओ डॉ देवेंद्र कुमार शर्मा आदि कई अधिकारी उपस्थित थे।


Spread the love

shahpura

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *