अजमेर सरस डेयरी ने साउथ में स्थापित की व्हाइट बटर के साथ साख * ***चेन्नई डेरी एमडी व एनसीडीएफआई डायरेक्टर ने किया दौरा*

अजमेर सरस डेयरी ने साउथ में स्थापित की व्हाइट बटर के साथ साख *  ***चेन्नई डेरी एमडी व एनसीडीएफआई डायरेक्टर ने किया दौरा*
Spread the love

*अजमेर सरस डेयरी ने साउथ में स्थापित की व्हाइट बटर के साथ साख
*

***चेन्नई डेरी एमडी व एनसीडीएफआई डायरेक्टर ने किया दौरा*

*आवाज़ राजस्थान की*
——————-

अजमेर । अजमेर सरस डेयरी ने अपनी गुणवत्ता व उत्पादन क्षमता के बूते साउथ में अच्छी साख स्थापित की है। विशेष तौर पर अजमेर डेयरी द्वारा तैयार किए जा रहे व्हाइट बटर की गुणवत्ता ने साउथ में अपना बाजार भी स्थापित कर लिया है ।अजमेर सरस डेयरी जो अब उत्तर भारत की सबसे बड़ी डेयरी की श्रेणी में शामिल हो चुकी हैं। डेयरी की गुणवत्ता, उत्पादन व प्रबंधन के साथ कार्यप्रणाली को जानने के लिए चेन्नई सरस डेयरी के एमडी आईएएस एन सुबैया शनिवार को एनसीडीएफआई के डायरेक्टर निवास के हजा के साथ डेरी के नवीन प्लांट का दौरा करने पहुंचे। उन्होंने यहां पर डेयरी में प्राप्त दूध, उसे निर्मित विभिन्न उत्पादन तथा यहां कार्य की कार्यप्रणाली के बारे में में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। सोलह एकड़ में फैले नवीन प्लांट के छह मंजिला भवन पर पहुंच कर चेन्नई डेयरी के एमडी ने वहां की प्रोसेसिंग यूनिट से बिंदुवार जानकारी प्राप्त की। यहां पर तैयार किए जा रहे दूध पाउडर की विभिन्न श्रेणियों के बारे में तकनीकी सहायक ने उनको जानकारी साझा की। विजिट कार्यक्रम में अजमेर सरस डेयरी अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी के साथ ही उप प्रबंधक पी एण्ड ए रामलाल चौधरी, उपप्रबंधक पीएण्डआई लादूराम चौधरी, प्लांट इंचार्ज सहायक प्रबंधक राजेश अग्रवाल व बी पाराशर मौजूद रहे । प्रबंधक राजेश अग्रवाल व बी पाराशर ने डेयरी के नवीन प्लांट में विभिन्न उत्पाद एवं विभिन्न उपकरणों व उत्पादन क्षमता के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। इस मौके पर घी की टिन पैकिंग, आइसक्रीम पैकिंग पाउडर प्लांट तथा प्रतिदिन यहां तैयार की जा रहे 30 मेट्रिक टन मिल्क पाउडर उत्पादन की प्रोसेसिंग को देखकर अभिभूत हुए। यहां तीन प्रकार का पाउडर उत्पादित किया जा रहा है । जो देश के अनेक राज्यों में भी मांग के अनुरूप भेजा जा रहा है इस पर भी जानकारी प्रदान की गई।
बेहतर प्रबंधन व गुणवत्तापूर्ण उत्पादन ने किया आकर्षित- एन. सुबैया
अजमेर ।अजमेर सरस डेयरी विजिट करने आए तमिलनाडु चेन्नई डेयरी के एमडी आईएएस एन. सुबैया ने कहा कि उन्हें अजमेर सरस डेयरी का इंफ्रास्ट्रक्चर, बेहतर प्रबंधन व गुणवत्तापूर्ण उत्पादन ने आकर्षित किया है । चेन्नई डेयरी के साथ व्हाइट बटर की पहली डीलिंग 50 मैट्रिक टन की हुई है। इसकी गुणवत्ता ने ही उपभोक्ताओं को इस ओर खींचा है । उन्होंने अजमेर डेयरी के संबंध में कहा कि यहां पर कार्य का कुशल प्रबंधन निःसंदेह तारीफ के योग्य हैं ।यहां की अत्याधुनिक मशीनों पर गुणवत्तापूर्ण उत्पादन देश में अव्वल है। यहां प्रथम स्तर से लेकर डेयरी में कार्यरत अंतिम व्यक्ति की कार्यप्रणाली एवं कार्य के प्रति उनका समर्पण भाव कुशल प्रबंधन का एक महत्वपूर्ण उदाहरण है। यह प्रबंधन यहां के कार्य में प्रतिबिंबित हो रहा है। चेन्नई (तमिलनाडु) में और अजमेर सरस डेयरी की तुलना पर उन्होंने कहा कि एक तरह से यहां उपस्थित होकर हमने कुछ मायनों में प्रशिक्षण शुरू किया है और इस प्रशिक्षण को कार्य रूप में लाने का पूरा प्रयास करेंगे। अजमेर सरस डेयरी द्वारा किसानों को मुख्यमंत्री दुग्ध संबल उत्पादन योजना में 5 रुपये प्रति लीटर राशि मिलने की बात पर उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था किसान एवं पशुपालक के लिए एक प्रोत्साहन है और जहां प्रोत्साहन मिलता है वहां कार्य की गति भी तीव्र होती है ,यह मानवीय प्रवृत्ति है। उन्होंने कहा कि यहां आइसक्रीम, व्हाइट बटर ,मिल्क रोज ऐसे अनेक उत्पाद हैं जो निसंदेह अजमेर सरस् डेयरी को अग्रणी स्थान में खड़ा करते हैं। यहां स्वचालित मशीनों द्वारा प्रोसेसिंग करके कम समय में अधिक उत्पादन करना वर्तमान समय की मांग है। उन्होंने पशुपालको द्वारा जो दूध बीएमसी से होकर डेयरी तक पहुंचता है कि संपूर्ण प्रोसेसिंग प्रणाली के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की । इस मौके पर डेयरी अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी, प्रबंधक उमेश चंद्र व्यास, उप प्रबंधक पीएण्ड आई लादूराम चौधरी ,उपप्रबंधक पीएण्ड ए रामलाल चौधरी ने एन सुबैया का राजस्थानी परंपरा के अनुसार साफा पहनाकर अभिनंदन किया।

विजय कुमार पाराशर
आवाज़ राजस्थान की
9414302519


Spread the love

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *