प्रदेश के सरपंचो की एकजुटता देख सरकार ने आधी रात किया लिखित समझौता* * मंत्री रमेश मीणा ने कहा मै भी पंचायत राज से ही निकला हू सरपंचो की समस्याओं का पता है समस्याओं का हल 15 दिन मे करने का दिया आश्वासन* *सरपंचो की अधिकांश मांगे मानी गयी आन्दोलन हुआ स्थगित* आवाज़ राजस्थान की

प्रदेश के सरपंचो की एकजुटता देख सरकार ने आधी रात किया लिखित समझौता* * मंत्री रमेश मीणा ने कहा मै भी पंचायत राज से ही निकला हू सरपंचो की समस्याओं का पता है समस्याओं का हल 15 दिन मे करने का दिया आश्वासन*  *सरपंचो की अधिकांश मांगे मानी गयी आन्दोलन हुआ स्थगित*  आवाज़ राजस्थान की
Spread the love

*प्रदेश के सरपंचो की एकजुटता देख सरकार ने आधी रात किया लिखित समझौता*
*
मंत्री रमेश मीणा ने कहा मै भी पंचायत राज से ही निकला हू सरपंचो की समस्याओं का पता है समस्याओं का हल 15 दिन मे करने का दिया आश्वासन*

*सरपंचो की अधिकांश मांगे मानी गयी आन्दोलन हुआ स्थगित*

आवाज़ राजस्थान की
———————————-

अजमेर (ark news ) सरपंच संघ राजस्थान के बैनर तले 22 मार्च को होने वाला विधानसभा घेराव ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री रमेश मीणा सरपंच संघ राजस्थान के पदाधिकारियों के बीच हुए लिखित समझौते के बाद स्थगित कर दिया गया सरपंच संघ के प्रदेश प्रवक्ता रफीक पठान ने बताया कि सरपंच संघ के 13 सूत्री मांग पत्र पर ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा की मध्यस्था में प्रमुख शासन सचिव ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज अपर्णा अरोड़ा सचिव पीसी किशन केके पाठक के साथ 28 सदस्य प्रतिनिधि मंङल की वार्ता हुई वार्ता मे सरपंच संघ के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर गढ़वाल, संरक्षक भंवरलाल जानू,कार्यकारी अध्यक्ष रोशन अली, मुख्य महामंत्री शक्ति सिंह, संयोजक महेंद्र मझेवाला प्रदेश उपाध्यक्ष नेमीचंद मीणा, गोपाल शर्मा, जयपुर जिला अध्यक्ष मेहर सिंह धनकड, अलवर जिला अध्यक्ष अशोक यादव, सीकर जिला अध्यक्ष हनुमान झांझड़ा,अजमेर जिला अध्यक्ष हरीराम बाना,संरक्षक विजय कुमार पाराशर ,भवर बहादूर चीता,तेज सिह राठौड़, शिवजी राम कुर्डिया, प्रदेश प्रवक्ता रफ़ीक़ पठान जयराम पलसानिया ,अंजू तंवर सहित अन्य पदाधिकारी वार्ता में शामिल हुये
*वार्ता में निम्न समझौतों पर सहमति बनी*
जिसमें मुख्य रुप से निजी भूमि पर बने प्रचलित रास्तों पर सहमति के आधार पर पक्के कार्य हो सकेंगे और पेयजल के लिए नलकूप वगैरह लगाए जा सकेंगे प्रधानमंत्री आवास सहित जितनी भी सरकारी योजनाओं की स्वीकृति निकलेगी व समस्त पत्रावलियो पर प्रमुख रूप से सरपंचों के हस्ताक्षर जरूरी होंगे कोविड सहायको सहित अन्य मानदेय कर्मियों का पेमेंट संबंधित विभागों से दिलाया जाएगा राज्य वित्त आयोग का बकाया 3155 करोड़ में से 1055 करोड़ 31 मार्च से पहले पहले पंचायतों के खाते में जमा हो जाएंगे शेष राशि 2 माह के अंदर अंदर पंचायतों को दे दी जाएगी छठे वित्त आयोग मैं जो राजस्व कम किया गया है उसको बढ़ाने के लिए वित्त आयोग को राशि बढ़ाने का पत्र विभाग द्वारा लिखा जाएगा प्रधानमंत्री आवास प्लस में 9 लाख जो नाम रह गए हैं उन्हें जोड़ने के लिए भारत सरकार से लगातार पत्राचार किया जाएगा ग्राम पंचायतों को सुदृढ़ बनाने के लिए कंप्यूटर या लैपटॉप मय प्रिंटर खरीदने के लिए अलग से राशि दी जाएगी ऑपरेटर लगाने की अनुमति ग्रामपंचायत को दी जाएगी सभी सरपंचों को ऑनलाइन प्रक्रिया हेतु प्रशिक्षित किया जाएगा किसी भी ग्राम पंचायत की ऑडिट प्रक्रिया चार भागों में कार्य की सूची सूची जारी होने के 2 या 3 साल तक की करवाई जा सकेगी बिना टेंडर प्रक्रिया के तीन कोटेशन पर कार्य निष्पादन के लिए 15 दिन में आदेश दे दिए जाएंगे वार्ड पंचों का बैठक भत्ता प्रति माह के स्थान पर प्रति बैठक के हिसाब से दिया जाएगा इसके साथ अन्य मुद्दों पर मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि समय-समय पर वार्ता जारी रहेगी ताकि समस्याओं का समाधान समय पर हो सके इसके बाद मंगलवार को समझौते के आधार पर जो आदेश बने थे वह आदेश अधिकारियों ने सरपंच संघ के पदाधिकारियों को सौंपे गये
पंचायत राज मंञी रमेश मीणा ने सरपंच संघ के प्रतिनिधि मंङल से कहा की ग्रामीण विकास हेतु कोई भी सरपंच अपनी समस्या ले कर उन के पास कभी भी आ सकता है उन्हें जल्द ही प्रदेश स्तर पर सभी सरपंचो को बुलाने की बात कही

* *पंचायत राज मंञी रमेश मीणा ने देर रात आवाज़ राजस्थान की के माध्यम से सरपंचो से की अपील**

सरपंच आन्दोलन को लेकर प्रदेश स्तरीय प्रतिनिधि मंङल से वार्ता के बाद देर रात पंचायत राज एव ग्रामीण विकास मंञी रमेश मीणा ने पंचायत राज से जुङे समाचार पञ एव चैनल के सम्पादक विजय कुमार पाराशर को वार्ता को लेकर हुये समझोते पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुये प्रदेश भर के सरपंचो को सम्बोधित किया उन्होंने कहा की सरपंचो की अधिकांश मांगे मान ली गयी है तथा जल्द ही सभी आदेश जारी हो जायेगे सरपंच ग्रामीण विकास हेतू कभी भी उन के पास आ सकते है

*अजमेर जिले की रही महत्वपूर्ण भूमिका*

13 सूञी मांगो को लेकर अजमेर के सरपंचो की महत्वपूर्ण भूमिका रही प्रदेश संरक्षक महेन्द्र सिंह मझेवला व प्रदेश मुख्य महामंत्री शक्ति सिंह रावत के साथ जिला अध्यक्ष हरीराम बाना संरक्षक विजय कुमार पाराशर ,भवर बहादूर चीता,तेज सिंह राठौङ ने जिले की सभी पंचायत समिति स्तर पर जा कर बैठके की पीसागन सरपंच संघ के पदम सिंह छाजेङ के नेतृत्व मे पीसागन के सभी सरपंच जवाजा सरपंच संघ के पदम सिह सुहावा के साथ जवाजा के सभी सरपंच मसूदा मे नरेन्द्र विक्रम सिह के साथ सभी सरपंच भिनाय मे अध्यक्ष बच्छराज जाट के नेतृत्व मे सभी सरपंच श्री नगर मे दिलीप राठी व मान सिह रावत के साथ सभी सरपंच एव किशनगढ़ पंचायत समिति मे रूपनगढ स्थित पनेर सरपंच संजू देवी मांगीलाल बागङा की होटल पर किशनगढ़ के सरपंच शिवराज ङोङवाङिया ईकबाल छिपा अनिल चौधरी मनभर नुवाद सहीत सरपंच गण ने समर्थन दिया
इसी प्रकार अराई सरपंच संघ ने भागचन्द जाट के साथ सरवाङ मे प्रधान घाकङ नीलम जैन टाटोटी सरपंच ओम प्रकाश ङूगरवाल के साथ अपना समर्थन दिया केकङी व सावर पंचायत समिति की बैठक मे नीरज चौधरी सोनु लोढा सुशील ,कृष्ण गोपाल सैन सहीत सरपंचो ने आन्दोलन को मजबूत किया सरपंचो की एकता तथा आक्रोश का ही परिणाम रहा की आधी रात तक पंचायत राज विभाग के अधिकारी व मंञी ने सरपंचो के साथ वार्ता कर अधिकांश मांगो पर लिखित समझौता करते हुये आदेश निकालने की प्रक्रिया शुरू की

विजय कुमार पाराशर
आवाज़ राजस्थान की
9414302519


Spread the love

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *